May 24, 2024
Part 5 difference among Ahankar Abhiman and Ghamand अभिमान, घमंड और अहंकार By Pt Dr Ashok Sharma

प्रकृति तीन गुणों वाली होती है तो प्रकृति से बना सब कुछ भी तीन प्रकार का होगा | बहुधा, लोग अभिमान, घमंड और अहंकार – तीनो का एक ही अर्थ कर देते हैं लेकिन तीनों एक नहीं होते हैं | कोई भी दो शब्दों का अर्थ एक हो ही नहीं सकता है, जैसे चन्द्रमा को कहते हैं, निशाचर – रात्रि में चलने वाला लेकिन निशाचर तो रात्रि के जानवर यथा सांप को भी कहा जाता है | चन्द्रमा को कहा जाता है, शशांक तो शशांक का अर्थ होता है, जिस पर खरगोश का चिन्ह है, वो और क्योंकि खरगोश का चिन्ह चन्द्रमा पर है अर्थात चन्द्रमा | ऐसे ही, अहंकार, अभिमान और घमंड के अर्थ में भी अंतर् होता है !

क्या है वो अंतर ? आज जानते हैं, इस वीडियो से | यदि आपको ये वीडियो अच्छा लगे, तो इसे अपने परिवार, मित्रों और सोसाइटी में अवश्य शेयर करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page