March 1, 2024
cropped Poster 01 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान

शास्त्रज्ञान

हमारा उद्देश्य, विभिन्न प्रयासों के द्वारा शास्त्रों के ज्ञान का प्रचार और प्रसार है, जिससे कि सनातन धर्म और उसके शास्त्रों को समझा जा सके | इसमें हम केवल पुराणों आदि की चर्चा नहीं करते हैं अपितु सनातन धर्म के अन्यान्य शास्त्र यथा तर्कशास्त्र, छंदशास्त्र, नाट्यशास्त्र, योग आदि का अध्ययन करते हैं | हमारे सनातन धर्म में केवल ईश्वर की बातें नहीं हैं, अपितु सम्पूर्ण ज्ञान भी है और उस ज्ञान के प्रयोग से, कैसे ईश्वर तक पहुचा जा सकता है, इसकी हम चर्चा करते हैं |

शास्त्र ज्ञान सत्र

बड़ों के लिए, शास्त्र ज्ञान के सत्र आयोजित करना | इसमें हम विभिन्न शास्त्रों, ग्रंथों को जैसे कि ज्योतिष, काव्य शास्त्र, नाट्य शास्त्र, शिक्षा शास्त्र, योग आदि को कहानियों, सन्दर्भों और विभिन्न उदाहरणों से सरल भाषा में समझने का प्रयास करते हैं |

Seminar & Lectures in Colleges

युवाओं के लिए, विभिन्न कॉलेज में हम, लेक्चर्स का आयोजन करते हैं, जहाँ हम युवा पीढ़ी को, शास्त्रों के माध्यम से, आज के विषयों को और अच्छे से समझने में मदद करते हैं |

jindal Global University Pic 1 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी, सोनीपत में “Business Ethics in Shastra’s way” विषय पर आख्यान

बालसंस्कारशाला

इनसे छोटे बच्चो के लिए, बालसंस्कारशाला का आयोजन किया जाता है, जिसमें बच्चो को श्लोक, सुभाषित, मनोरंजक कथाओं के साथ, नीति, जीवन, आदर्श, बड़ों के आदर, विज्ञान, तार्किक सोच आदि के बारे में विस्तार से पढ़ाया जाता है |

Pic 2 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
St. Xavier High School में बच्चो को सूर्य ग्रहण और चन्द्र ग्रहण को कहानी के माध्यम से पढ़ते हुए

शास्त्र ज्ञान की मोबाइल एप

मोबाइल एप से जाने, शास्त्रों का असली ज्ञान, सदर्भ और तर्क के साथ, आसन भाषा और उदाहरण के साथ | इसमें आप ने केवल पढ़ सकते हैं अपितु ऑडियो मोड में सुन भी सकते हैं | इसमें आप विभिन्न ऑनलाइन ग्रन्थ को सुन और पढ़ सकते हैं, खंडन-मंडन सीरिज भी आप इसमें पढ़ सकते हैं | विभिन्न शास्त्र ज्ञान के वीडियो, जैसे ज्योतिष, तर्कशास्त्र आदि भी आपको इसमें प्राप्त हो जायेंगे | आज ही डाउनलोड करें –

Shastra gyan mobile app

ज्योतिषीय समाधान

जन्मपत्री और कुंडली के द्वारा, जीवन की विभिन्न परेशानियों/संकटों और संभव भाग्य के द्वारों के खुलने के बारे में विभिन्न सुझाव भी देने का प्रयास रहता है ताकि व्यक्ति जीवन में उन्नति कर सके |

image Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान

उपन्यास श्रृंखला : अघोरी बाबा की गीता

इसके अलावा शास्त्रों और ग्रंथो के गूढ़ रहस्यों को आसानी से कहानी के माध्यम से समझाने हेतु, “अघोरी बाबा की गीता” नाम से उपन्यास सीरिज लिखी गयी है | इस कहानी को इस प्रकार लिखा गया है कि इसको एक उपन्यास को पढने मात्र से ही विभिन्न शास्त्रों का अध्ययन हो जाता है |

शास्त्र ज्ञान का यूट्यूब चैनल

यदि आप भी सीखना चाहते हैं ज्योतिष, तर्कशास्त्र, शिक्षा शास्त्र, योग आदि विषय या सुनना चाहते हैं धर्म के गूढ़ रहस्य तो आज ही सबस्क्राइब करें, हमारे youtube चैनल को और आनंद लें, सभी प्रकार के शास्त्र ज्ञान के वीडियो का और आगे आने वाले वीडियो के अपडेट के लिए “बेल आइकॉन” अवश्य दबाएँ |

youtbe 1 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान

बच्चों की प्रतिभाओं का मंचन

बच्चों की प्रतिभाओं को निखारने के लिए उनको मंच उपलब्ध कराया जाता है और यथसम्भव, बच्चों को तराश कर, उन्हें ऐसा बनाने का प्रयास किया जाता है, जहाँ अधिकतम लोग, उनकी प्रतिभाओं को देख सकें |

सोशल मिडिया पर फैले झूठ का खंडन : शास्त्र – क्या सच, क्या झूठ

आजकल सोशल मिडिया पर, शास्त्रों के बारे में झूठी कहानियों, उपन्यासों और कथाकारों की नित नयी कथाओं ने बहुत भ्रम फैला दिया है | ऐसे ही शास्त्रीय पात्रों को लेकर बनाये गए, झूठी कथाओं और झूठे सन्दर्भों का, शास्त्रों के आधार पर, हम खंडन अथवा सही मालूम होने पर, मंडन भी करते हैं |इसके लिए हमने टेलीग्राम पर शास्त्र-क्या सच, क्या झूठ नाम से ग्रुप बनाया हुआ है, जिसमें आप भी ज्वाइन कर सकते हैं और यदि आपके पास भी कोई पोस्ट आती है, जिसको आपको जांचना है कि क्या वाकई शास्त्रों में ऐसा लिखा है या नहीं, तो आप उस वायरल पोस्ट को, हम तक, टेलीग्राम के माध्यम तक पहुचा सकते हैं | समय मिलने पर उस वायरल पोस्ट का खंडन/मंडन किया जाता है |
टेलीग्राम लिंक को ज्वाइन करने के लिए यहाँ क्लिक करें – शास्त्र – क्या सच, क्या झूठ

3 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
शास्त्र – क्या सच, क्या झूठ

शास्त्र ज्ञान – टेलीग्राम ग्रुप

इस ग्रुप का उद्देश्य सनातन धर्म के शास्त्रों और ग्रंथो के मूल ग्रंथो का अध्ययन है | इस ग्रुप को ग्रुप स्टडी की तरह से प्रयोग किया जाता है, जहाँ, एक सदस्य, किसी एक ग्रन्थ का अध्ययन करता है, और रोज, उस ग्रन्थ के २ श्लोक या 3 श्लोक ग्रुप पर अर्थ सहित डालते हैं, जिससे कि ग्रुप के सभी सदस्य उन श्लोकों को पढ़ सकें | इससे बिना किसी किताब को छुए अथवा मोटे मोटे ग्रंथो को ढूढें, हम एक साथ 6-7 ग्रंथो को पढ़ सकते हैं, वो भी बिना थके क्योंकि एक दिन में मात्र कुछ ही श्लोक पढने होते हैं अतः सबके लिए आसान होते हैं और यदि उनमें कुछ समझ ना आये तो ग्रुप के सदस्य आपस में चर्चा करके उस ग्रन्थ को समझ भी लेते हैं | आप भी इस ग्रुप को ज्वाइन कर सकते हैं

3 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
शास्त्र ज्ञान टेलीग्राम ग्रुप
Excellent
Based on 28 reviews
Saurabh Sharma
Saurabh Sharma
2023-07-08
अभिनंदन शर्मा जी एक अत्यंत प्रभावी और विशेषज्ञ ज्योतिषी हैं। उनका ज्योतिष ज्ञान, गहन विश्लेषण तथा सरल, सुव्यवस्थित व्याख्या करने की क्षमता विशिष्ट है । उनके द्वारा मेरे बारे में बताई गई अधिकांश बातें अभी तक सत्य हुई हैं । मेरा ज्योतिष विज्ञान में अटूट विश्वास है किंतु यदि आप ज्योतिष में विश्वास नहीं रखते तो अभिनंदन जी से मिलने के बाद अवश्य करने लगेंगे ।
Kapil Gupta
Kapil Gupta
2023-01-03
Very good Astrologer and worked on Kundli having good findings
DEEPASHA PANDEY
DEEPASHA PANDEY
2022-12-14
Good knowledge of astrology
Atul Sharma
Atul Sharma
2022-11-27
A very down-to-earth personality. He provided authentic and genuine solutions to my astrological problems. For me It was phenomenal experience. Thankyou sir!!
Sisodiya Hansraj Rana
Sisodiya Hansraj Rana
2022-09-09
ज्योतिष या अन्य सभी जानकारियाँ आपके द्वारा दी गयी बहुत ही उम्दा और सत्य होती हैं समझाने का आपका भाषा शैली भी सराहनीय हैं
  • FB 13 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 12 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 11 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 10 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 9 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB8 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB7 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB6 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB5 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB4 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 3 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 2 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान
  • FB 1 Home - उद्देश्य - शास्त्रज्ञान

You cannot copy content of this page

%d