May 24, 2024

मॉडर्न होने का स्यापा

—————

आपने पुराने समय में देखा होगा या पुरानी फिल्मो में देखा होगा । जब लड़की को देखने जाते थे तो लड़की को चलवा कर देखते थे, उससे गाने के लिए कहा जाता था और भी काफी कुछ टेस्टिंग टाइप से होती थी । लेकिन फिर आई मॉडर्न पीढ़ी । लड़कियों ने विरोध के सुर तेज किये । हम क्यों इस तरह से टेस्ट दें जैसे कि हम कोई नुमाइश की चीज हैं ! हमसे ही क्यों सवाल पूछे जाते हैं, गाने को कहा जाता है, हम तो लड़को से कोई सवाल नहीं पूछ्ते ! लड़की से ही ये सब क्यों पूछा जाता है और हम झंडाबरदार लगे हाँ में हाँ मिलाने । हमने भी सुर में सुर मिलाया कि लड़कियों को बराबरी का हक़ मिलना चाहिए और धीरे धीरे ये प्रथा ख़त्म सी हो गयी है बल्कि अब तो लड़कियां लड़को से सवाल जवाब करती हैं, टेस्ट लेरी हैं । कितना कमाते हो, फ्यूचर प्लान क्या हैं । मैं तो ऐसे नहीं रह सकती, मैं तो खुले विचारों की हूँ आदि आदि ।

उस समय औरतें ये बताने में असफल रही कि ये टेस्ट क्यों लिए जाते है । बहुधा तो वो टेस्ट बस इसलिए किये जाते थे क्योंकि उनकी सास ने उनके ये टेस्ट लिए थे । वो ये बताने में विफल रहे कि शास्त्रो में इस प्रकार से वधु के लक्षण देख कर शादी का विधान है । उनको तो पता भी नहीं होगा कि भविष्य पुराण में बाकायदा लिस्ट दी हुई है कि लड़की का स्वर यदि कोमल हो, सुरीला हो तो वो विवाह के लिए उत्तम है । कर्कश, कुत्ते जैसी वाणी (जोर जोर से बोलना) वाली लड़की विवाह के लिए उत्तम नहीं है । जो लड़की मितभाषी हो, वाचाल न हो ऐसी लड़की विवाह के लिए उत्तम है । लेकिन अब तो, आय हाय, मेरी वाली तो भाई इतनी चुलबुली और हाजिरजवाब है कि क्या बताऊं । भैया, जब गुस्से में दुर्गा और काली बनेगी न तब भी ऐसे ही पटापट जवाब देगी, तब तुमको समझ नहीं आएगा कि इस औरत का मैं क्या करूँ ।

शास्त्रो को पढ़ो मत, फिर जो पढ़े उसकी मानो मत और जिसने न पढ़े हों पर मानता हो (परम्परा) उसका विरोध करो और उस से सवाल जवाब करो जब वो बिचारा कुछ जवाब न दे पाये तो कहो ये सब रूढ़िवादिता है । ठीक है, तो जरा ये बताइये, अब इतने तलाक क्यों होते हैं ? अब पत्नियो और पतियो के बीच क्यों इतने झगडे होते हैं ? न्यूक्लिअर फॅमिली कैसे इतनी ज्यादा हो गयी । सिर्फ इसलिए क्योंकि हमने शास्त्रो को मानना छोड़ दिया ।

अभी भी यकीन नहीं आ रहा, है न । अच्छा जरा पता कीजिये, आपके जानकारी में कोई न कोई तो ऐसी लेडी होंगी जिनका नाम किसी नदी के नाम से होगा या किसी देवी के नाम से होगा और थोडा सा चेक कीजियेगा कि उनका वैवाहिक जीवन कैसा रहा । क्या वो निर्बाध रहा ! क्या उनको वैवाहिक जीवन में कोई बड़ी समस्या नहीं आई । जरा चेक कीजिये क्या है कि शास्त्रो में नदी के नाम वाली और देवियों के नाम वाली लड़की से विवाह भी वर्जित है । पर आप तो मानेगे नहीं न, आप तो मॉडर्न है ।

Abhinandan Sharma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page