May 24, 2024
असली पंचतंत्र कथा

असली पंचतंत्र कथा – भाग 1

पंचतंत्र की कहानियां, वैसी नहीं है, जैसी कि कुछ किताबों में छपती हैं, कार्टून्स के साथ | पंचतंत्र की असली कहानी, उस से बहुत अलग हैं, बहुत सीख वाली है और जीवन में अमूल्य शिक्षा देने वाली हैं | बच्चों को असली पंचतंत्र की कहानी से परिचित कराने के लिए, शास्त्र ज्ञान की बालसंस्कारशाला का प्रकल्प लेकर आया है – पंचतंत्र की कहानियों की वीडियो सीरिज | आशा है, आपको ये पसंद आएगी | जैसे आज की कहानी में बच्चो को सीखने वाली बात है कि मूर्ख बच्चा नहीं होना चाहिए अतः ज्ञान के लिए प्रयास करना चाहिए | आप भी सुने और बच्चो को भी सुनाएँ |

stories of Panchatantra are not as they appear in some books, along with cartoons. The real story of Panchatantra is very different from that, it has many lessons and gives invaluable education in life. To introduce children to the real Panchatantra story, Shastra has come up with the project of Bal Sanskarshala of Knowledge – Video Series of Panchatantra Stories. Hope you like this. Like in today’s story, the children should learn that they should not be foolish children, so one should strive for knowledge. You also listen and tell the children too.

panchatantr kee kahaaniyaan, vaisee nahin hai, jaisee ki kuchh kitaabon mein chhapatee hain, kaartoons ke saath | panchatantr kee asalee kahaanee, us se bahut alag hain, bahut seekh vaalee hai aur jeevan mein amooly shiksha dene vaalee hain | bachchon ko asalee panchatantr kee kahaanee se parichit karaane ke lie, shaastr gyaan kee baalasanskaarashaala ka prakalp lekar aaya hai – panchatantr kee kahaaniyon kee veediyo seerij | aasha hai, aapako ye pasand aaegee | jaise aaj kee kahaanee mein bachcho ko seekhane vaalee baat hai ki moorkh bachcha nahin hona chaahie atah gyaan ke lie prayaas karana chaahie | aap bhee sune aur bachcho ko bhee sunaen |

पंचतंत्र की असली कहानी #2 – शास्त्र ज्ञान

बच्चों को धन का महत्व कैसे समझाएं ? वो भी कहानी में ? कैसे बच्चो को बताएं कि धन कैसे कमाया जाता है ? माता-पिता नौकरी में क्या परेशानी झेलते हैं ? कैसे बताया जाए कि दोस्ती में विश्वास का क्या महत्व है ? या फिर शिक्षा से, ज्ञान से कैसे आप किसी अहंकारी से भी लड़ कर जीत सकते हैं | ये सब आसान है, पंचतंत्र की असली कहानी उनको सुनाइये | वो नहीं, जिसके नाम से कहानियों की किताबें आती है, असली पंचतंत्र सुनाइये | असली पंचतंत्र में, कहानी में शिक्षा भी है और कहानी भी है | बच्चा आपसे सुनता है तो आप सुनिए और फिर बच्चे को सुनाएँ और यदि वीडियो देख कर, समझ सकता है तो उसे वीडियो दिखाइये | यकीन मानिए, एक एक एपिसोड, बच्चे के ज्ञान को कई गुना बढ़ा देगा | जैसे इस एपिसोड में बिजनेस के बारे में बताया गया है, विस्तार से | इससे बच्चो में बिजनेस की समझ बढ़ेगी | नौकरी लेने वालों की बजाय, नौकरी देने वालों में होने की इच्छा जागेगी | बहुत महत्वपूर्ण वीडियो है, स्वयं भी देखें और यदि बच्चा 6 क्लास से ऊपर का है तो उसके साथ बैठ कर देखें | बच्चे से इस विषय पर चर्चा करें | यकीन मानिए, बच्चा, इन 15 मिनट में वो सीखेगा, जो सालों स्कूल में नहीं सीख पायेगा | पंचतंत्र की असली कहानी का दूसरा भाग |

पंचतंत्र की असली कहानी #3 – बंदर की कहानी – शास्त्र ज्ञान

पंचतंत्र की कहानी, वो नहीं है, जो हमें कहानियों की किताबों के रूप में मार्किट में मिलती है | उन लगभग सभी किताबों में, कहानी की आत्मा को मार दिया गया है | एक तो हर कहानी को अलग अलग कर दिया गया है तो असली पंचतंत्र में, उन कहानियों का क्या सन्दर्भ था ! वो क्यों सुनाई गयी थी ? वो बात सिरे से गायब है ! जबकि उसी में तो सार है ! हर कहानी किसी न किसी बात के समर्थन अथवा विरोध में बताई गयी है पर अगर बच्चे अलग अलग पढ़ेंगे तो असली ज्ञानवर्धन कैसे होगा ? उन कहानियों का उद्देश्य मनोरंजन या टाइम पास नहीं था, अपितु गूढ़ शिक्षाएं देना था, जो बातें इन कहानियों की किताबों से सिरे से गायब हैं | इसीलिए हम लाये हैं, पंचतंत्र की असली कहानी, जिसमें गूढ़ बातें, बच्चों को कहानियों से समझाई गयी हैं | इस भाग में जो कहानी है, इसका गूढार्थ है, बच्चो को ये बताना कि दूसरों की मदद करनी चाहिए या नहीं | कब करनी चाहिए ? किसकी करनी चाहिए ? ये सब समझने वाली बातें हैं | यदि यही नहीं समझे और पंचतंत्र की कहानी पढ़ ली तो भला क्या लाभ हुआ ? ये बंदर वाली कहानी किसने नहीं पढ़ी सुनी होगी पर ये कहानी किस सन्दर्भ में थी ? ये इस सन्दर्भ में थी कि दूसरों के काम में टांग अडानी चाहिए या नहीं !!! आप भी सुनिए, आपको भी नयी बातें पता चलेंगी और बताएं, इस कहानी का क्या यही अर्थ आपको पता था ? यदि अच्छी लगे तो इसे अपने परिवार में शेयर अवश्य करें ताकि आपके परिवार के बच्चे, भी पंचतंत्र की असली कहानियों से जीवन की गूढ़ बातें सीख सकें |

पंचतंत्र की असली कहानी #4 – स्वभाव की पहचान

बच्चो को साइकोलोजी का पहला पाठ भी, पंचतंत्र की कहानी में ही छुपा हुआ है, बहुत ही आसान तरीके से | बच्चो को साइकोलोजी पढना कैसे सिखाएं, लोगों के चेहरे पढना कैसे सिखाएं, लोगों को पहचानना कैसे सिखाएं… सिर्फ एक कहानी से ? इस प्रकार के ज्ञानवर्धक वीडियो को देखने के लिए सबस्क्राइब करें, शास्त्र ज्ञान का youtube चैनल

पंचतंत्र की असली कहानी #5 – पिता की सीख

बच्चो को पता होना चाहिए कि अपनी बात कब कहनी चाहिये ? कब अपनी बात कहने से, सामने वाला उस पर ध्यान देगा ? पिताजी ऑफिस का काम कर रहे हैं, माता जी किचेन में काम कर रही हैं और बच्चा अपनी बात कह रहा है, तो उस पर कोई ध्यान नहीं दे सकता, फिर बच्चे को लगता है कि कोई उस पर ध्यान नहीं दे रहा है, पर बच्चे को ये सिखाना चाहिए, कि अपनी बात कब कहनी चाहिए | स्कूल में, बच्चा अपनी बात कहता है, पर और बच्चो में उसकी बात दब जाती है, तो उसे ये ज्ञान कराना चाहिए कि किसी बात को कहने का सही समय क्या होता है ? इसके अलावा, यदि माता-पिता का प्रिय होना है, तो क्या करना पड़ेगा ? टीचर का फेवरिट होना है तो क्या करना पड़ेगा ? क्या ये कोई कठिन कार्य है ? ये सब बातें भी पंचतंत्र की कहानी से, ही ज्ञात हो जाएगा, बशर्ते कि हम पंचतंत्र की कहानी को आज के परिप्रेक्ष्य में पढ़ें और असली कहानी पढ़ें | कहानी की किताबों में जो पंचतंत्र है, उसमें मूल कहानी गायब है, सब कुछ short कर दिया गया है, शिक्षाएं भी और इसीलिए पंचतंत्र की कहानियाँ, बच्चो में वो असर, वो ज्ञान पैदा नहीं कर पा रही हैं, जिसके लिए वो लिखी गयी थी | इसी क्रम में प्रस्तुत है, पंचतंत्र की कहानी का भाग 5 |

इसके पहले के भाग भी आप नीचे दिये गए लिंक से देख सकते हैं |

पंचतंत्र की असली कहानियाँ, भाग 1 – https://youtu.be/_Kt7AHM8SqQ

पंचतंत्र की असली कहानी, #2 – https://youtu.be/ay9zqtUQH10

पंचतंत्र की असली कहानी, #3 – https://youtu.be/T7XNXh56C6E

पंचतंत्र की असली कहानी, #4 – https://youtu.be/7mLRwpE0hXo

शास्त्र ज्ञान वेबसाइट – https://shastragyan.in/

अभिनन्दन शर्मा जी के बारे में जानकारी – linktr.ee/ShastraGyan

#पंचतंत्र #पंचतंत्र_की_असली_कहानी #पिता_की_सीख #बातों_का_समय #अभिनंदन #शास्त्रज्ञान #shastragyan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page